Tuesday 30 December 2008

स्वागत -२००९ - प्रदीप मानोरिया

 
नव  वर्ष  में  वंदन नया , 
उल्लास  नव आशा  नई  |
हो भोर नव आभा  नई, 
रवि  तेज  नव ऊर्जा  नई |
विश्वास  नव उत्साह  नव,
नव चेतना उमंग नई |
विस्मृत जो बीती  बात है ,
संकल्प  नव परनती  नई |
है भावना  परिद्रश्य  बदले , 
अनुभूति नव हो सुखमई |
किंतु हालात  क्या  होते हैं :---
सरकार  नव आकार  नव ,
नेता  नया बातें वही |
दुश्मनी की परम्परा वह , 
जो पडौसी भाई वही |
खेल चूहा बिल्ली का ,
चूहा वही बिल्ली वही |
हमले वह आतंक वो ही,
जेहाद औ मज़हब वही |
मुखिया वही करता वही ,
कहता मैं मुखिया नहीं |
कुछ कर सके सरकार मेरी, 
दिखता उसे कुछ हल नहीं |
अथवा सब कुछ जानते , 
किंतु अरे हिम्मत नहीं |
स्वच्छता का  भरते दम , 
जो स्वच्छ साँसे भी नहीं |
देश की कीमत  नहीं है , 
घूस  औ रिश्वत वही |
है समय का बीतना ही, 
समय की नियति यही |
है नियत सब कुछ जगत में , 
जो हो रहा सब है सही |
==प्रदीप मानोरिया 
094 251 32060 
चूहा - बिल्ली का खेल = भारत पकिस्तान के परस्पर हालात

28 comments:

cessyaaaa, caroline said...

happy 2 new year..Visiting in the morning..nice blog..

Amit said...

बहुत ही अच्छी कविता रही....नव वर्ष की आपको हार्दिक शुभकामनाएं

नटवर सिंह राठौड़ said...

आप तथा आपके पूरे परिवार को आने वाले वर्ष २००९ की मेरी तरफ़ से हार्दिक शुभकामनाये !

अल्पना वर्मा said...

विस्मृत जो बीती बात है ,संकल्प नव परनती नई |
है भावना परिद्रश्य बदले , अनुभूति नव हो सुखमई |

बहुत ही अच्छी कविता.
आप तथा आपके पूरे परिवार को आने वाले वर्ष की हार्दिक शुभकामनाये !

SHREYASH said...

bahoot acchi kavita likhi hai aap ne.
nav varsh ki aap ko hardik shubh kamnaye

दिगम्बर नासवा said...

प्रदीप जी
नव वर्ष की वंदना कुछ अनोखे अंदाज में
बहुत खूब कहा है

स्वच्छता का भरते दम ,
जो स्वच्छ साँसे भी नहीं

नव वर्ष की बहुत बहुत शुभकामनाएं

seema gupta said...

"नव वर्ष २००९ - आप के परिवार मित्रों, स्नेहीजनों व शुभ चिंतकों के लिये सुख, समृद्धि, शांति व धन-वैभव दायक हो॰॰॰॰॰॰॰॰॰॰ इसी कामना के साथ॰॰॰॰॰॰॰॰॰॰॰॰॰॰॰॰॰॰ नव वर्ष की हार्दिक शुभकामनाएं "

regards

दिनेशराय द्विवेदी Dineshrai Dwivedi said...

है नियत सब कुछ जगत में ,
जो हो रहा सब है सही |

मुझे इन वाक्यों से घोर नफरत है, मैं समझ सकता हूँ कि इन्सान चाहे तो दुनिया बदल सकता है।

राज भाटिय़ा said...

नव वर्ष की आप और आपके परिवार को हार्दिक शुभकामनाएं !!!नया साल आप सब के जीवन मै खुब खुशियां ले कर आये,ओर पुरे विश्चव मै शातिं ले कर आये.
धन्यवाद

मुकेश कुमार तिवारी said...

प्रदीप जी,

नव वर्ष मंगलमय हो, कवितामय हो.

मुकेश कुमार तिवारी

kumar Dheeraj said...

नया साल आपके लेकर ढ़ेर सारी खुशियां लेकर आए

COMMON MAN said...

आपको और देशवासियों को शुभकामनायें.

रंजन said...

आपको भी नववर्ष की शुभकामनाऐं

रंजन
http://aadityaranjan.blogspot.com

sareetha said...

नए साल की हार्दिक शुभकामनाएं । उम्मीद है कि सरस काव्य रचनाएं पढने मिलती रहेंगी ।

Smart Indian - स्मार्ट इंडियन said...

आपको, आपके परिजनों और आपके मित्रों और परिचितों को भी नव वर्ष की शुभकामनाएं. ईश्वर आपको सुख-समृद्धि दे!

अनुराग.

Jyotsna Pandey said...

navvarsh ki shubhkamnaye .........

8ki jagah 9 ne le lee hai bas itana sa badlaav hai .........bahut steek tareeke se batayaa aapne .

shabdon ka chayan bejod hai

pintu said...

आपको और आपके सहपरिवार को नव वर्ष की हार्दिक शुभकामनाये!!!
न्य साल आप सभी के जीवन में खूब खुशी,सुख,समृधि और उलास लेकर आए!
और साथ ही पुरे विश्व में सुख,शान्ति ,अमन चैन लेकर आए.
धन्यवाद!

BrijmohanShrivastava said...

आज सुबह आपको नव वर्ष की बधाई देने पाँच मर्तवा फोन लगाया हर बार व्यस्त मिला /शुभ कामनाएं

विजययात्रा said...

नव किरणें मुस्काकर लाई
नए वर्ष का नव पैगाम
कोयल कूक रही है जग में
गूंजेगा भारत का नाम|

वही आसमां वही फिजा है
वही दिशाएं अभी तलक
नई चेतना नए जोश से
नया सृजन होगा अविराम।

बहुत रो लिए वर्तमान पर
परिवर्तन की हो कोशिश
सार्थक होगा तब विचार जब
हालातों पर लगे लगाम|

पिंजडे के तोते भी रट के
बातें अच्छी कर लेते
बस बातों से बात न बनती
करना होगा मिलकर काम।

नित नूतन संकल्पों से
नव सोच की धारा फूटेगी
पत्थर पे भी सुमन खिलेंगे
और होगा उपवन अभिराम।
जय हिंद
आपको और आपके परिवार को नूतन वर्ष की ढेर सारी बधाईया.... Happy new year 2009
All the best

jayaka said...

बहुत सुंदर रचना, नये साल के उपलक्ष्यमें आपने पेश की....धन्यवाद।....नूतन वर्ष का अभिनंदन।

hempandey said...

'कुछ कर सके सरकार मेरी,
दिखता उसे कुछ हल नहीं |
अथवा सब कुछ जानते ,
किंतु अरे हिम्मत नहीं |'

-खरी बात.

sandhyagupta said...

Nav varsh ki dher sari shubkamnayen.

Format badalne ke liye dhanywaad.

dr. ashok priyaranjan said...

शब्दों के माध्यम से भाव और िवचार का श्रेष्ठ समन्वय िकया है आपने ।

आपको नववषॆ की बधाई । नया आपकी लेखनी में एेसी ऊजाॆ का संचार करे िजसके प्रकाश से संपूणॆ संसार आलोिकत हो जाए ।ं-

http://www.ashokvichar.blogspot.com

Dr.Bhawna said...

आपको नव वर्ष की हार्दिक शुभकामनाएं ...

विवेक सिंह said...

नव वर्ष की आप और आपके परिवार को हार्दिक शुभकामनाएं !!!

विनय said...

आपकी कविता बहुत अच्छी है, नववर्ष की शुभकामनाएँ

Udan Tashtari said...

नव वर्ष की आप और आपके परिवार को हार्दिक शुभकामनाएं !

sangeeta said...

bahut khoobsurat blog hai. nav varsh par sundar kavita. badhai