Friday 1 October 2010

Blood Donation

आपकी रगों में दौडता लहू किसी के जीवन की आस हो सकता है
जीवन मृत्यु के इम्तिहान में वह व्यक्ति पास हो सकता है
मज़हब दिल औ दिमाग का संकुचन होता है
पर लहू तो सब इंसान का अकिंचन होता है
आइये हम भी इस अकिंचन लहू का कुछ दान करें
मौत के संघर्ष में लडते इंसान के लिये रक्‍तदान करें
=प्रदीप मानोरिया

3 comments:

भारतीय नागरिक - Indian Citizen said...

एक अच्छा संदेश...

Priyanka Soni said...

बहुत सुन्दर !

anita saxena said...

‘रक्त दान - महादान ’ अति उत्तम अभिव्यक्ति । सबको प्रेरणा मिलनी चाहिए !