Saturday 27 February 2010

होली की हार्दिक शुभ कामनायें

पर्व ये होली ऐसी सजायें ।
.
प्रेम खुशी व प्यार लुटायें॥
.
जल है अमोलक इसे बचायें।
.
तिलक लगा त्यौहार मनायें ॥
=Pradeep Manoria
09425132060

6 comments:

Vivek Ranjan Shrivastava said...

उछालकर कीचड़,
कर सकते हो गंदे कपड़े मेरे
पर तब भी मेरी कलम
इंद्रधनुषी रंगों से रचेगी
विश्व आकाश पर सतरंगी सपने
नीले पीले ये सुर्ख से सुर्ख रंग, ये अबीर
सब छूट जाते हैं, झट से
सो रंगना ही है मुझे, तो
उस रंग से रंगो
जो छुटाये से बढ़े
कहाँ छिपा रखी है
नेह की पिचकारी और प्यार का रंग?

भारतीय नागरिक - Indian Citizen said...

बहुत समय बाद दर्शन हुये. होली पर शुभकामनायें.

Udan Tashtari said...

ये रंग भरा त्यौहार, चलो हम होली खेलें
प्रीत की बहे बयार, चलो हम होली खेलें.
पाले जितने द्वेष, चलो उनको बिसरा दें,
खुशी की हो बौछार,चलो हम होली खेलें.


आप एवं आपके परिवार को होली मुबारक.

-समीर लाल ’समीर’

सतीश सक्सेना said...

रंगारंग उत्सव पर आपको हार्दिक शुभकामनायें !

CS Devendra K Sharma said...

acha sandesh........afsos ki ham ise der se padh paye

JHAROKHA said...

eksandeshatmak rachna,padh kar achha laga.